STRUCTURE AND CONTENT OF CTET in Hindi and English || CTET परीक्षा के पेपर-1 और पेपर-2 में प्रश्नों का प्रारूप और अंक

CTET के सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) होंगे, जिसमें चार विकल्प होंगे, जिनमें से एक उत्तर सबसे उपयुक्त होगा। प्रत्येक सही उत्तर के लिए एक अंक दिया जाएगा और कोई नेगटिव मार्किंग नहीं होगी मतलब किसी भी गलत उत्तर में कोई भी अंक नही काट जाएगा। CTET के दो पेपर होंगे(i) पेपर I एक ऐसे …

Read moreSTRUCTURE AND CONTENT OF CTET in Hindi and English || CTET परीक्षा के पेपर-1 और पेपर-2 में प्रश्नों का प्रारूप और अंक

[2020] CTET Eligibility for Paper–1 and 2 in Hindi || CTET Minimum Qualifications for Paper–1 and 2 in Hindi and English

CTET :– कक्षा I-V के लिए शिक्षक बनने की न्यूनतम योग्यता: प्राथमिक चरण कम से कम 50% अंकों के साथ सीनियर सेकेंडरी (या इसके समकक्ष) और 2-1 वर्ष के अंतिम वर्ष में उत्तीर्ण या प्रकट होना या वरिष्ठ माध्यमिक (या इसके समकक्ष) कम से कम 45% अंकों के साथ और एनसीटीई (मान्यता मानदंड और प्रक्रिया), …

Read more[2020] CTET Eligibility for Paper–1 and 2 in Hindi || CTET Minimum Qualifications for Paper–1 and 2 in Hindi and English

CTET FREQUENTLY ASKED QUESTIONS [FAQ] in Hindi and English

यहाँ आपको CTET परीक्षा से संबंधित अक्सर पूंछे जाने वालों सवालों के उत्तर दिए गये हैं। यहाँ हमने CTET से संबंधित अक्सर पूंछे जाने वालों सवालों को हिंदी और इंग्लिश दोनों में दिया गया है। आप अपनी सुविधा के अनुसार पढ़ सकते हैं। CTET परीक्षा में अक्सर पूंछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर [CTET …

Read moreCTET FREQUENTLY ASKED QUESTIONS [FAQ] in Hindi and English

संख्या पद्धति (Number System part-1) For CTET Maths Notes

दोस्तों CTET Maths Notes का ये दूसरा पार्ट है। इसमे CTET Maths Study Materials का संख्या पद्धति (Number System) टॉपिक बताया गया है। CTET Maths Notes में इस टॉपिक को महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इस टॉपिक से काफी प्रश्न अक्सर आ जाते हैं। संख्या पद्धति Number System For CTET Maths Notes Part 2 इस …

Read moreसंख्या पद्धति (Number System part-1) For CTET Maths Notes

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 से सम्बन्धित महत्त्वपूर्ण तथ्य

निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 से सम्बन्धित कुछ महत्त्वपूर्ण तथ्य निम्नलिखित है – 1. वर्ष 2006 में शिक्षा के अधिकार अधिनियम का मॉडल विधेयक विकसित किया गया। 2. 4 अगस्त, 2009 को शिक्षा का अधिकार, 2009 पारित हुआ। 3. 27 अगस्त, 2009 को भारत सरकार के राजपत्र में प्रकाशित हुआ। 4. 1 अप्रैल, …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 से सम्बन्धित महत्त्वपूर्ण तथ्य

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में विद्यालय के लिए तय मापदण्ड

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम-2009 में सभी विद्यालयों के लिए कुछ मापदंडों की घोषणा की गई। जिनमें विद्यालयों में शिक्षकों की संख्या कितनी हो, विद्यालय का भवन कैसा हो, पुस्तकालय, खेल सामग्री, एक वर्ष में न्यूनतम कार्यदिवसों की संख्या आदि के संबंध में तय मापदंडों के बारे में घोषणा की गई। शिक्षकों की संख्या …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में विद्यालय के लिए तय मापदण्ड

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन की प्रक्रिया एवं प्रयुक्त शब्दावली

सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन की प्रक्रिया आर. टी. ई. 2009 के अनुसार शिक्षक प्रत्येक बच्चे के स्तर का आकलन करेंगे – 1. उनके स्तर एवं गति के अनुसार गतिविधि आधारित शिक्षण कराएँगे। 2. शिक्षण के दौरान ही प्रत्येक बच्चे का व्यापक आकलन सतत् रूप से करेंगे। 3. अभिभावकों को बच्चों की प्रगति, उपस्थिति आदि के …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन की प्रक्रिया एवं प्रयुक्त शब्दावली

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन के लिए दिशानिर्देश

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम-2009 के अन्तर्गत मूल्यांकन को भी सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन के रूप में देखा गया। क्योंकि सीखना एक सतत् प्रक्रिया है, अतः मूल्यांकन भी सतत् होना चाहिए। मूल्यांकन शिक्षण अधिगम प्रक्रिया व उसमें सुधार का एक अभिन्न अंग है। यह एक प्रक्रिया है, लक्ष्य नहीं, जो बालक के विकास एवं …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन के लिए दिशानिर्देश

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 के अनुसार विद्यालय में कठिनाइयाँ एवं उनके निराकरण हेतु दिशा निर्देश

1. शिक्षकों द्वारा अलग-अलग कक्षाओं में अलग-अलग विषयों का शिक्षण ऐसे विद्यालय जहाँ शिक्षकों की संख्या आर. टी. ई. मानकों के अनुसार है, वहाँ जो शिक्षक कक्षा 1 को हिन्दी या अन्य विषय पढ़ाता हो, वही शिक्षक कक्षा 5 तक उसी विषय को पढ़ाए अर्थात् हिन्दी या अन्य विषय का शिक्षण सभी पाँच कक्षाओं में …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 के अनुसार विद्यालय में कठिनाइयाँ एवं उनके निराकरण हेतु दिशा निर्देश

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में शिक्षकों की भूमिका एवं दायित्व

अधिनियम में शिक्षकों की भूमिका एवं दायित्व निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम , 2009 के अन्तर्गत धारा 23 से लेकर धारा 28 में शिक्षकों के दायित्व और विद्यालयों में छात्रों और शिक्षकों के बीच अनुपात आदि के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया है जो की निम्नलिखित हैं – 1. धारा 23 इस …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 में शिक्षकों की भूमिका एवं दायित्व