CTET Maths Notes PDF in Hindi || CTET Maths Pedagogy Notes PDF

आज के इस आर्टिकल में मैं आपको CTET Maths Notes PDF, CTET Maths Study Material, Maths Pedagogy For CTET उपलब्ध करवाएंगे। CTET Maths Notes CTET परीक्षा की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण है। जैसा कि आपको पता है कि CTET Mathematics 30 अंक की आती है। अगर आपको CTET maths Syllabus नही पता तो आप नीचे …

Read moreCTET Maths Notes PDF in Hindi || CTET Maths Pedagogy Notes PDF

नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 की प्रस्तावना, निर्माण और वशेषताएँ

प्रस्तावना संविधान विकास के समान अवसर की गारण्टी देता है । अतः यह सरकार का उत्तरदायित्व है कि आजीविका की दौड़ में राष्ट्र के सभी बच्चों को , चाहे वे धनी परिवार के हो या निर्धन परिवार के , समान अवसर दिये जाएँ । देश के बच्चों को मजबूत , साक्षर और अधिकार सम्पन्न बनाने …

Read moreनि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिकार अधिनियम – 2009 की प्रस्तावना, निर्माण और वशेषताएँ

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा – 2005 का निर्माण विशेषताएं और उद्देश्य

पाठ्यचर्या के द्वारा शिक्षक एवं छात्र दोनों को उचित मार्गदर्शन प्राप्त होता है। पाठ्यक्रम सुधार एवं उसको नवीन बनाने के प्रयास हमेशा होते रहते हैं। पाठ्यक्रम द्वारा ही समाज एवं वर्तमान समय की आकांक्षा को पूर्ण किया जा सकता है, इसलिए समस्त शिक्षा विशेषज्ञ अपने प्रयत्नों के माध्यम से पाठ्यक्रमों में समय-समय पर सुधार करते …

Read moreराष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा – 2005 का निर्माण विशेषताएं और उद्देश्य

CTET Maths Study Material – Geometry – ज्यामिति

CTET Maths Notes Topic wise – दोस्तों CTET maths Notes हम आपको देंगे। और एक-एक टॉपिक के बारे में विस्तार से बताएंगे। CTET Maths Notes Part-1  आज हम CTET Maths Notes topicwise प्रोवाइड करेंगे। आज के टॉपिक में हम Geometry – ज्यामिति पढ़ेंगे। CTET Maths Study Material – Geometry – ज्यामिति आज हम रेखाखण्ड, रेखा, …

Read moreCTET Maths Study Material – Geometry – ज्यामिति

तत्सम और तद्भव की परिभाषा, अंतर और उदाहरण (Tatsam Tadbhav)

इस पोस्ट में आपको तत्सम और तद्भव शब्द की परिभाषाएं तत्सम और तद्भव शब्दों को पहचानने के नियम और तत्सम और तद्भव शब्दों के उदाहरण की जानकारी मिलेगी। तत्सम शब्द (Tatsam Shabd) : तत्सम दो शब्दों से मिलकर बना है – तत + सम जिसका अर्थ होता है ‘ज्यों का त्यों’। तत्सम शब्द ऐसे शब्द …

Read moreतत्सम और तद्भव की परिभाषा, अंतर और उदाहरण (Tatsam Tadbhav)

शब्द विचार, शब्द की परिभाषा, शब्दों का वर्गीकरण, पद की परिभाषा

इस पोस्ट में आप शब्द विचार की परिभाषा और शब्दों के भेद के बारे में जानेगें। इस लेख में शब्द और पद में अंतर के बारे में भी बताया गया है। शब्द की परिभाषा पद की परिभाषा शब्दों का वर्गीकरण उत्पत्ति या स्त्रोत के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण तत्सम शब्द तद्भव शब्द देशज शब्द …

Read moreशब्द विचार, शब्द की परिभाषा, शब्दों का वर्गीकरण, पद की परिभाषा

अयोगवाही वर्ण, द्वित्व व्यंजन, संयुक्त व्यंजन, संगम या संहिता और अनुतान की परिभाषा और उदाहरण

इस पोस्ट में आपको हिंदी वर्णमाला के कुछ विशेष प्रकार के वर्ण और व्यजनों के बारे में जानकारी मिलेगी। जैसे :- अयोग वाही वर्ण क्या होते हैं? द्वित्व व्यंजन क्या होते हैं? संयुक्त व्यंजन व्यंजन क्या होते हैं? संगम या संहिता की परिभाषा और उदाहरण। अनुतान क्या है, परिभाषा और उदाहरण? अयोग वाही वर्ण द्वित्व …

Read moreअयोगवाही वर्ण, द्वित्व व्यंजन, संयुक्त व्यंजन, संगम या संहिता और अनुतान की परिभाषा और उदाहरण

संस्कृत और हिंदी व्याकरण में वर्णों का प्रयत्न के आधार पर वर्गीकरण

इस पोस्ट हम आपको हिंदी और संस्कृत में प्रयत्न के आधार पर वर्णों का वर्गीकरण के बारे में बताएंगे। पिछली पोस्ट में हमने आपको हिंदी और संस्कृत में उच्चारण स्थान के आधार पर वर्णों का वर्गीकरण के बारे में बताया था। किसी भी वर्ण का उच्चारण करने पर मुख के अंगों को जो प्रयास करना …

Read moreसंस्कृत और हिंदी व्याकरण में वर्णों का प्रयत्न के आधार पर वर्गीकरण

चिंतन का अर्थ, परिभाषा, प्रकार, सोपान व विशेषताएँ

बाल मनोविज्ञान में चिंतन शब्द का ज़िक्र होता ही रहता है। चिंतन बाल विकास का एक प्रमुख टॉपिक है। इस आर्टिकल में चिंतन का अर्थ क्या है और चिंतन की परिभाषा, चिंतन के प्रकार कितने होते हैं? चिंतन के सोपान और चिंतन की विशेषताओं के बारे में विस्तार से जानेंगे। चिंतन का अर्थ एवं परिभाषा …

Read moreचिंतन का अर्थ, परिभाषा, प्रकार, सोपान व विशेषताएँ

संस्कृत और हिंदी व्याकरण में वर्णों का उच्चारण स्थान के आधार पर वर्गीकरण

इस पोस्ट हम आपको हिंदी और संस्कृत में उच्चारण स्थान के आधार पर वर्णों का वर्गीकरण के बारे में बताएंगे। यदि आपको व्यंजन और स्वरों की परिभाषा नहीं पता है, तो आप इस लिंक से जाकर पढ़ सकते हैं। वर्णों के उच्चारण स्थान के सूत्र अकुहविसर्जनियाना कण्ठः इचुयशाना तालु ऋटुरषाणा मूर्धा लृतुलसाना दन्ताः उपूपध्मानियानाओष्ठो ञमङ्णनाना …

Read moreसंस्कृत और हिंदी व्याकरण में वर्णों का उच्चारण स्थान के आधार पर वर्गीकरण